दो भाभियो के साथ थ्रीसम चुदाई

दो भाभियो के साथ थ्रीसम चुदाई

दोस्तो, मैं एक बार फिर आपके लिए एक सेक्स कहानी लेकर आया हूँ। भाभी का नाम काजल है. काजल भाभी का शरीर भी उनके नाम की तरह ही खूबसूरत है. सच कहूँ तो, उन्हें देखकर ही मैं पागल हो जाता हूँ। मैं भाभी के साथ सेक्स की आग में जलता हूँ. दो भाभियो के साथ थ्रीसम चुदाई

जब से मैंने काजल भाभी की गांड को चुदाई की है, मैंने उसे कई बार चुदाई की है। मैं वास्तव में भाभी की गांड को मारने का आनंद लेता हूं। उस रात भैया के आने के बाद भैया ने भी भाभी को खूब पीटा और मैं पूरी रात नंगी होकर तड़पती रही। फिर भैया के ऑफिस चले जाने के बाद मैं भाभी से चिपक गया.

मैं खूब मस्ती करता था, फिर भैया का फोन आता था और भाभी फोन पर बात करती थीं. मैं अपनी भाभी को नंगा करके अपनी गोद में उठा लूंगा. मैं इसका भरपूर आनंद उठाता हूं. मैं अपनी भाभी के साथ सेक्स करते हुए अपने सारे यौन सपने पूरे करने की कोशिश करूंगा. बेडरूम में टीवी पर नंगी फिल्म चलाकर सास के साथ सेक्स और ननद के साथ मस्ती। सेक्स कहानियाँ पढ़ते हुए देवर के शरीर से खेलना, भाभी को उठाकर घर भर में चोदना। भाभी की गांड पियो और चोदो. मुझे इस सबका जितना आनंद लेना चाहिए था, उससे कहीं अधिक मैंने लिया।

एक दिन भाभी और मैं सेक्स करने में व्यस्त थे, तभी भैया का फोन आ गया. भाभी बात करने लगीं. उस वक्त मैं भाभी के पूरे शरीर को चूम रहा था. फिर मैंने भाभी की बड़ी गांड को सख्त कर दिया और भाभी हंसने लगी. वीर ने फोन पर पूछा- क्या हुआ? भाभी ने मेरी तरफ देखा और कहा कि कुछ नहीं, नीचे से चींटी घुस गयी है. मैं उसकी बात सुनकर हंस पड़ा.

उस शाम भाभी की एक सहेली घर आई, उसका नाम ऐश्वर्या था. ऐश्वर्या भी बहुत मस्त भाभी थी. वो एकदम सेक्स आइटम लग रही थी. उस शाम मैं भाभी को लेने गया तो वो आ गईं. भाभी ने अपने कपड़े ठीक करते हुए दरवाज़ा खोला और ऐश्वर्या भाभी अन्दर आ गईं. भाभी को देखते ही वह समझ गई. क्योंकि दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे. तभी भाभी को आंख मारकर काजल भाभी की तरफ इशारा करके मेरी बात समझ में आ गयी. फिर भाभी ने मुझे ऐश्वर्या भाभी से मिलवाया. ऐश्वर्या भाभी मेरी नजरों में कुलबुला रही थीं.

ऐश्वर्या भाभी के पति भी काफी समय तक बाहर रहते थे. उसे मुर्गियों की भी प्यास थी. मेरे मन में आया कि अगर दोनों भाई बहन एक साथ सेक्स करें तो मजा आ जाए. कितना मज़ा आएगा अगर दो औरतें एक ही बिस्तर पर एक जवान लड़के के लिंग के साथ खेल रही हों। हालाँकि, उस समय ऐश्वर्या भाभी ने काजल भाभी से बात की और चली गईं। उस रात मैंने पहले ही भाभी से रात को मेरे साथ सेक्स करने के लिए आने को कह दिया था. रात को दो बजे भाई के सो जाने के बाद भाभी मेरे पास आईं तो मैंने उन्हें नंगी करके बिस्तर पर लिटा दिया. भाभी, एक बात बताऊं. भाभी : हां बोलो.

मैं- भाभी, मुझे आपकी दोस्त ऐश्वर्या भाभी बहुत अच्छी लगती हैं. क्या मैं तुम दोनों को एक साथ चोद सकता हूँ तुम देखना दोनों को मज़ा आएगा। इस पर भाभी ने मुझे प्यार से मारा और कहा कि तुम अभी भी बहुत बदसूरत हो. हम जवान औरतों को एक साथ चोदना चाहते हैं. लगता है आप पूर्ण मनुष्य बन गये हैं। वैसे मेरा भी बहुत दिल है. ऐश्वर्या बेचारी भी प्यासी है. मैंने अपने लिंग को भाभी की योनि पर रगड़ते हुए कहा- हाँ भाभी ऐश्वर्या भाभी ने भी आज मुझे इशारा किया है। भाई-बहन- हम भाभी कुट्टी ऐश्वर्या बहुत तेज हैं. नया माल देखने से आग लग जाती है.

मैं- भाभी, जब आप दोनों मेरे साथ नंगी लेटेंगी तो कितना मजा आएगा। चूत चुदाई की अच्छी पढ़ाई. मैं- भाभी, तुम सच में बहुत खूबसूरत और सेक्सी हो मेरी प्यारी काजल रानी. काजल भाभी- ओ भाभी सिद्धि काजल तुम शरारती हो. भाभी : आह भाभी अब मुझे जल्दी से तुम्हारी गांड चोदने दो। में : नहीं भाई, में नहीं उठूँगा, उफ़ क्या मस्त और मोटी गांड है तेरी भाभी की. भाभी ये सब आपका जादू है.

मैं: वो भाभी है. मैं सचमुच चाहता हूं कि तुम मेरी पत्नी होती तो मजा आता। भाभी, मैंने तुम्हें अपनी दुल्हन बना लिया है और क्या पता अगर तुम मेरे पति होते तो तुम सो रहे होते और मैं तुम्हारे छोटे भाई से सगाई कर लेती। इस पर मैंने झट से भाभी की पैंटी उतार दी और लंड भाभी की गांड में डाल दिया और चोदने लगा. मैं- भाभी, आप बहुत स्मार्ट हो, हमेशा दूसरों से चुदने की बात में लगी रहती हो. अब जल्दी से ऐश्वर्या भाभी को अपनी टीम में जोड़ें. फिर देखना मैं तुम्हारी दोनों भाभियों की गांड का इंडिया गेट कैसे बनाऊंगा.

भाभी- तुमने मेरी गाण्ड का गेट तो बना दिया, अब ऐश्वर्या की गाण्ड का भी गेट बनाना चाहते हो? मैंने कहा – भाभी, मैं क्या करूँ, तेरी नन्द का लौड़ा ही ऐसा है। सुबह पांच बजे तक मैंने भाभी को अपनी छत के नीचे रखा. फिर भाभी ने अपनी नाईट पैंटी उतारी और अपनी गांड हिलाते हुए नंगी ही अपने कमरे में चली गईं. भाभी के जाते ही मुझे नींद आ गई, जीजाजी दो बहनों को अकेले चोद रहे थे। मैं दिन में कॉलेज जाता था और शाम को वापस आता था तो भाभी ने मुझे बताया कि ऐश्वर्या सैट हो गयी है. भाभी की बात सुनकर मैं खुश हो गया. ऐश्वर्या भी अपने घर में अकेली रहती थी. तो भाभी ने प्लान बनाया था कि चुदाई ऐश्वर्या के घर पर होगी.

कुछ दिन बाद भाई को अपने बॉस के साथ दो दिन के लिए मीटिंग के लिए कहीं जाना पड़ा. यह जानकर हम दोनों भाई-बहन बहुत खुश हुए। सुबह भाई के जाते ही हम दोनों ऐश्वर्या के घर आ गये. ऐश्वर्या भाभी ने हमारा स्वागत किया और चाय-पानी दिया. काजल भाभी- अरे ऐश्वर्या, अजय को कच्चा दूध पीना बहुत पसंद है. इस पर ऐश्वर्या भाभी बोलीं- कोई बात नहीं, मेरे पास दूध बहुत है और वो भी ताज़ा है. ये कहते हुए ऐश्वर्या भाभी ने मेरी तरफ आंख मार दी. मैंने भी ऐश्वर्या भाभी को आंख मार दी.

भाभी रसोई में चली गयी. मैं उन्हें अपनी बांहों में लेना चाहता था इसलिए मैं काजल भाभी से इजाजत लेकर उनकी रसोई में चला गया. मैं किचन में गया और ऐश्वर्या भाभी को गले लगा लिया. काजल भाभी उस वक्त बेडरूम में गयी हुई थीं. मैंने ऐश्वर्या भाभी से कहा- आप बहुत सेक्सी हैं. ऐश्वर्या- तो क्या काजल सेक्सी नहीं है? वह मुझसे भी ज्यादा सेक्सी है. मैं- भाभी आप भी कमाल की हो. आज मैं तुम्हारी गांड को मारूंगा, मना न करें।

ये बात मैंने उसके कान में धीरे से कही. तो ऐश्वर्या भाभी का चेहरा लाल हो गया. फिर भाभी हंस पड़ी और मान गयी. उसके बाद हम दोनों जल्दी से बेडरूम में आ गये. मैं नंगा ही चादर ओढ़ कर आ गया. काजल भाभी खड़ी थीं. काजल- अजय को सब्र नहीं है. मैं- भाभी, जब दो भाई-बहन सेक्स करना चाहें तो दुनिया का कोई भी आदमी पागल हो जाएगा.

मैंने ऐश्वर्या भाभी को अपनी बांहों में खींच कर बिस्तर पर ले लिया और साड़ी खोल कर झट से उसे नंगा कर दिया. मैंने भाभी के स्तनों, कूल्हों, गांड, जांघों को चूमा। मैं- काजल भाभी आप भी नंगी हो जाओ, अब खुल कर मजा लो. भाभी भी मूड में आ गईं. उसने अपने कपड़े खोले और मेरे लंड को सहलाने लगी. मैंने ऐश्वर्या भाभी के बोबों को चूस-चूस कर गर्म कर दिया। उसकी योनी और गांड में उंगली करने से वह वासना के बवंडर में उड़ने के लिए तैयार हो गई।

मेरे एक तरफ ऐश्वर्या भाभी और दूसरी तरफ काजल भाभी नंगी लेटी हुई थीं. मैं नीचे से हाथ डाल कर उन दोनों के नितम्ब दबा रहा था। वो दोनों मेरे लंड को अपने हाथों से सहारा देते हुए मुझे चूम रही थीं. मैं- अरे बहनों, तुम दोनों की गांड क्या मस्त है, मैं दिन रात तुम दोनों के साथ ऐसे ही रहने की कोशिश कर रहा हूं. आह, तुम औरतें भी कमाल की हो मेरे दोस्त, मेरा तो लंड ही नहीं रुकता. पहले मैं एक -एक करके आपके दोनों गधे को मार दूंगा। काजल भाभी- जिसका गधा तुम पहले मेरे प्रिय को मारोगे। क्या तुम एक ही समय में दोनों में अपना लंड डलवाओगे?

मैं- मैं पहले ऐश्वर्या भाभी की गांड को मारूंगा। ऐश्वर्या भाभी मान गईं. मैंने ऐश्वर्या भाभी को खड़ा किया और उन्हें उल्टा झुकाया, उनकी मक्खन जैसी गांड पर तेल लगाया और धीरे से अपनी उंगली डाल दी। भाभी ने एक मादक आह भरी. कुछ ही देर में मैंने ऐश्वर्या भाभी की गांड को चुदाई के लिए तैयार कर लिया. काजल भाभी मुझे बिस्तर पर नंगा लेटे हुए तब तक देखती रहीं जब तक कि ऐश्वर्या भाभी की गांड नहीं मार पाई। मैंने तेल की पूरी शीशी ऐश्वर्या भाभी की गांड में खाली कर दी. उसके बाद मैंने काजल भाभी से कहा- भाभी, जब तक आप तेल लगा कर अपनी गांड ढीली नहीं कर लेतीं, तब तक मैं ऐश्वर्या भाभी की गांड चलाऊंगा.

काजल भाभी अपनी गांड मटकाते हुए ड्रेसिंग टेबल से दूसरा जार ले आईं. तब तक मैंने ऐश्वर्या भाभी की गांड में लंड डाल दिया और ऐश्वर्या भाभी चिल्लाने लगीं. कुछ ही देर में मैंने ऐश्वर्या भाभी की गांड में पूरी लौंग डाल दी. अब तक काजल भाभी ने खुद ही अपनी बुर पर तेल लगा कर चिकनी कर ली थी. वो मेरे सामने कुत्ते की तरह अपनी बारी का इंतज़ार करने लगी. मैंने काजल भाभी की गांड में उंगली डाल दी और ऐश्वर्या भाभी की गांड से लंड निकाल कर काजल भाभी की गांड में पेल दिया. अब काजल भाभी भी मस्त आवाजें निकालने लगीं. इस प्रकार, मैंने एक-एक करके उन दो बहनों की गांड को लात मारना शुरू कर दिया।

मैंने दोनों की गांड मार कर अपना पानी उन दोनों के मुँह में निकाल दिया. ऐश्वर्या भाभी ने मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और पूरी मलाई चाट कर मेरे लंड को साफ़ कर दिया. उस दिन ऐश्वर्या भाभी मेरी दीवानी हो गईं. वे दीवानी होती भी क्यों नहीं तना मस्त लौड़ा जो गांड में हलचल मना कर बाहर आया था. इसके बाद डिनर करने की बारी आई. हम तीनों ने नंगे होकर ही डिनर किया.

दो भाभियो के साथ थ्रीसम चुदाई

कभी ऐश्वर्या भाभी मेरी गोद में बैठ कर मुझे अपनी चूचियों पर सब्जी लगा कर खिलातीं तो कभी काजल भाभी मेरी गोद में बैठ कर मुझे अपनी जांघ पर कौर रख कर खिलाती थीं. मैं उन दोनों की चूचियों को चूसता हुआ गांड मसलता हुआ मज़ा करता रहा. उस रात हम तीनों ऐश्वर्या भाभी के रूम में ही आ गए. अब पहले मैंने ऐश्वर्या भाभी की चुत में लंड पेला और काजल भाभी की चूचियों को मसलता रहा. कुछ देर बाद काजल भाभी चित लेट गईं और ऐश्वर्या भाभी ने मेरा लंड काजल भाभी की चुत में पेल दिया. करीब बीस मिनट तक उन दोनों की चुत में लंड बारी बारी से चुदाई करता रहा. आखिर में मैंने काजल भाभी की चुत में रस छोड़ दिया.

उस पूरी रात मैंने उन दोनों की चूचियां मसलीं, गांड चुत में लंड पेला उन दोनों के नंगे जिस्मों का मज़ा लेता रहा. सुबह के चार बजे तक चुदाई चलती रही. काजल भाभी थक कर बोलीं- अजय, तू तो आज पागल ही हो गया है. मैं- हां भाभी, आपके लिए तो मैं पागल ही हो गया हूँ न जाने ये टाइम फिर आए ना आए अभी तो जवानी का मज़ा लूट लूं. मैंने दोनों की चुत गांड चाट कर उनको बहुत मज़ा दिया जो उनके पतियों ने नहीं दिया था.

247 Views