गर्लफ्रेंड को रंडी बनाकर चोदा

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम सुनिल है। मुझे वाइल्ड सेक्स करने में मजा आता है. अब तक मैंने तेरह लड़कियों, चार आंटियों और पांच भाभियों को चोदा है। मेरे लिंग का आकार सामान्य है, लेकिन यह इतना सुखद और लंबे समय तक चलने वाला है कि यह एक महिला के दर्द को उजागर करता है।

मेरे लिंग की मोटाई सामान्य लिंग से बहुत ज्यादा है. दरअसल मेरा लिंग खीरे जितना मोटा है. जब भी मेरा लंड किसी चूत के अंदर जाता है तो चूत वाली कराहने लगती है. आज मैं आपको अपनी सच्ची कहानी बताना चाहता हूँ कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को एक रंडी की तरह चोदा। मेरी इस गर्लफ्रेंड का नाम रूबी था. रूबी बहुत खूबसूरत थी.

वह काफी लंबी थी, लेकिन उसके लंबे, घने काले बाल नागिन की तरह लहराते थे। उसके रेशमी बाल उसके नितंबों से टकराते हुए बहुत कामुक लग रहे थे। मुझे महिलाओं के लंबे बाल पसंद हैं. यह घटना उस समय की है जब मैं नया-नया ही रूबी कॉलोनी में रहने आया था। इस कॉलोनी में त्योहारों पर कार्यक्रम आयोजित होते थे.

यह एक ऐसे त्यौहार के बारे में है। कार्यक्रम चल रहा था. मैदान में कुर्सी दौड़ चल रही थी. मैं उस खेल का आयोजक था. साथ ही मैं अपने मोबाइल से गाने सुन रहा था और प्रोग्राम का आनंद ले रहा था.

गर्लफ्रेंड को रंडी बनाकर चोदा

इस रेस में रश्मि ने हिस्सा लिया था. एक बार मेरी उससे नजरें मिलीं और हम दोनों ने एक-दूसरे को हल्की सी मुस्कान दी। खेल शुरू हो चुका था और मैंने उसे वह खेल जिताया क्योंकि खेल का नियंत्रण मेरे हाथ में था। वह समझ गई कि वह मेरी वजह से गेम जीत गई है।’ तो उसने मुझे धन्यवाद कहा और चली गयी. इस तरह हमारी बातचीत शुरू हुई.

चूँकि हम दोनों के घर काफी पीछे थे तो इसका मतलब था कि मैं अपनी छत से कूद कर उसकी छत पर जा सकता था। तो मुझे इसमें कुछ आशा नजर आने लगी. जब मैंने रश्मि से बात करना शुरू किया तो धीरे-धीरे दो जवान दिलों की धड़कनें एक-दूसरे के दिल की बात समझने लगीं। हमारे बीच धीरे-धीरे बातें बढ़ने लगीं. शायद हम दोनों ने एक दूसरे के मन की बात पढ़ ली थी, लेकिन फिर भी प्यार का इजहार अभी तक नहीं हुआ था.

अब हम दोनों घर के बाहर भी मिलने लगे. कैफे, सिनेमा में जाना शुरू किया। फिर एक दिन मैंने उससे अपने प्यार का इज़हार कर दिया. उसने भी मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया और अपना सिर मेरी छाती पर रख दिया. उसने मेरे प्यार पर अपनी स्वीकृति की मोहर लगा दी थी।

अब हम दोनों जब भी मूवी देखने जाते हैं तो कोशिश करते हैं कि इंग्लिश मूवी देखने जाएं, जहां भीड़ कम हो और हम दोनों अपनी बातों के साथ-साथ एक-दूसरे के शरीर का भी आनंद ले सकें। हम दोनों खूब चूमाचाटी करते. मैं उसके मम्मों को खूब दबाता और उसकी चूत में अपनी उंगली अन्दर-बाहर करता। कई बार तो वो सीट पर झुक कर मेरा लंड भी हिलाती और चूसती.

गर्लफ्रेंड को रंडी बनाकर चोदा

हम दोनों को इस तरह मिलते हुए और एक दूसरे के साथ घुलते-मिलते काफी समय हो गया था। हम दोनों के जवान शरीर में वासना की आग भड़क चुकी थी और हम अपने आप पर काबू नहीं रख पा रहे थे. रूबी ने भी चुदने का मन बना लिया था। पहले तो मैंने उनसे छत पर ही कहानी सुनाने को कहा, लेकिन उन्होंने मना कर दिया. फिर मैंने अपने एक दोस्त के कमरे का इंतजाम किया और रश्मि को फोन करके बताया कि अखाड़े का इंतजाम हो गया है.

पहले तो उसे समझ नहीं आया कि कौन सा अखाड़ा सजा है। मैंने उससे कहा कि जहां भी चुत चुदाई होनी है, मैं वहीं की बात कर रहा हूं. आपका काम आज ही बन जायेगा. यह सुन कर वह बहुत खुश हो गयी कि आज उसकी चुदाई होने वाली है. तय समय पर हम दोनों घर से निकल गये. मैंने उसे चौराहे से अपनी कार में बैठाया और सीधे उस कमरे में ले गया। मैंने कार में ही उसकी तरफ देखा. वो आज बहुत हॉट लग रही थी. उसके स्तन ऐसे लग रहे थे जैसे वे उसके ऊपर से निकलने को बेताब हों।

मैंने एक हाथ से उसके मम्मे दबा कर उसे छेड़ा, तो उसने भी मेरे लिंग को मसल दिया और बोली- बेबी, तुम्हें सब्र नहीं हो रहा है क्या… मुझे भी जल्दी से यही चाहिए. मैंने कहा- आज तो रिबन कटेगा डार्लिंग! मैं दस मिनट में अपने दोस्त के कमरे पर पहुंच गया. आज मेरा दोस्त कमरे में नहीं था, उसने मुझे कमरे की चाबी दी थी। मैंने दरवाज़ा खोला और हम दोनों जल्दी से कमरे में आ गये। दरवाज़ा बंद करके हम एक-दूसरे को चूमने-चाटने लगे।

गर्लफ्रेंड को रंडी बनाकर चोदा

हम एक-दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे, जैसे सालों बाद एक-दूसरे से मिले हों। मैंने उसे चूमते हुए उसके कान में कहा कि डार्लिंग… क्या तुम आज मेरी रंडी बन कर मुझसे चुदवाओगी? उसने हाँ में सिर हिलाया. क्योंकि मुझे रंडी की तरह चूत चोदने में मजा आता है. मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसे चूमना शुरू कर दिया। मैंने धीरे से उसके बालों का बंधा हुआ जूड़ा खोल दिया और उसकी गर्दन पर चूमते हुए उसके बालों की खुशबू लेने लगा।

मैं उसके गालों को काट रहा था और चूम रहा था. वो भी सेक्स से पागल हो रही थी. कुछ पल बाद मैंने उसका टॉप उतार दिया. छोटी सी ब्रा में कैद उसके स्तन बहुत प्यारे लग रहे थे। मेरा मन कर रहा था कि भाभी की चुचियों को काट लूं. मैं ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तनों को जोर जोर से दबा रहा था. वह भी उत्तेजित थी. जब मुझसे और बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने एक ही झटके में उसकी ब्रा फाड़ दी. वो भी बड़े जोश से स्तनों को चूसने में मग्न हो गयी.

मैंने उसके एक स्तन को पूरा मुँह में भर लिया और दूध चूसते हुए उसके निप्पल को काट लिया। वो आह भरते हुए उठी- आह … धीरे लग रहा है डार्लिंग. मैंने पूरा बोबा ज़ोर-ज़ोर से चूसा और कपड़ों के ऊपर से ही अपना लंड उसकी चूत में पेल रहा था। उसकी चूत पर मेरा लंड उस रंडी को भी मजा दे रहा था. मैंने उससे पूछा- बताओ क्या तुम मेरी रंडी बनोगी? वो कामुक आवाज में बोली- हां, मैं तुम्हारी रंडी बनूंगी.

कॉलेज की गर्लफ्रेंड को रूम पर लाकर चोदा

मैंने उसकी जींस उतारी और देखा कि उसका पूरा अंडरवियर गीला हो गया था. मैंने उसकी पैंटी की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसा दीं, फिर उसने अपनी टांगें उठा दीं और मैंने पैंटी उतार दी. फिर वो भी उठी और मेरा लंड बाहर निकाल लिया. लंड देखते ही वो पागल हो गयी. वो लंड को बड़े प्यार से सहलाते हुए कहने लगी- आउच माँ … इतना मोटा मेरे अन्दर कैसे जायेगा.

मैंने उसे अपनी पीठ के बल लिटा लिया और उसे प्यार से चूमने लगा। साथ ही मैं अपने हाथ से उसकी चूत को मसलने लगा. फिर मैंने पूछा- बताओ मेरी रंडी, तुम सबसे पहले 69 में आओगी। उसने हाँ में सिर हिलाया. मैं उल्टा हो गया और अपना लंड उसके मुँह में डाल कर चुसवाने लगा और उसकी गुलाबी चूत पर मुँह रख कर उसे चोदने लगा। वो पागलों की तरह लंड चूसती रही और मैंने उसकी पूरी चूत चूस ली. मैंने उसकी चूत की भगनासा को अपने होंठों के बीच दबा कर चूसा और अपनी जीभ से उसकी चूत के अन्दर का भाग चाटा।

वह परेशान हो गयी. मैंने उससे पूछा- अब मुझसे भी चुदाई करवाएगी मेरी रंडी? वो बोली- हां हरामी … कितनी बार पूछेगा … अब जल्दी से मेरा लंड डाल. मुझे सेक्स के दौरान गालियाँ देना बहुत पसंद है… मैं तुम्हें भी गालियाँ दूँगा डार्लिंग। मैंने उससे कहा- तो मादरचोद … अब आज तेरी चूत को भोसड़ा बना दूंगा. वो भी मुँह से गालियाँ देने लगी और कहने लगी- आजा मेरे लौड़े … हरामी, आज अपना मूसल मेरी चूत में डाल दे.

कॉलेज की गर्लफ्रेंड को रूम पर लाकर चोदा

मैंने उसे चोदने की पोजीशन में लिटा दिया. उसकी टांगों को हवा में उठाते हुए अपना लंड उसकी चूत पर रखा और धीरे से धक्का दिया. योनि लेते ही वह जोर से चिल्लाने ही वाली थी कि मैंने अपने होठों का ढक्कन उसके होठों पर रख दिया और एक जोरदार झटका मारा। मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. उसके मुँह से निकला- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उसकी आँखों से आँसू आ गये।

मैंने अपना पूरा लंड अन्दर डाल दिया और एक मिनट तक वहीं पड़ा रहा. जब उसकी छटपटाहट कम हुई तो मैंने धीरे-धीरे अपना लिंग अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया। अब वो भी धीरे-धीरे अपनी गांड उठाने लगी. वो भी पूरी रंडी की तरह चिल्लाने लगी- आह्ह … पेल दे इसे योनी के अंदर … तेरी कुतिया को पूरा लंड चाहिए. मैंने उसे जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया और उसके मम्मों को चूसते हुए उसकी चूत को चोदने लगा.

मैं अपना पूरा लंड अन्दर धकेलता तो वो एकदम से चिल्ला उठती. लेकिन लंड बाहर निकालते समय वो अपनी गांड ऊपर उठा देती थी, जिससे सेक्स का मजा और भी बढ़ जाता था. फिर मैंने उसके गाल पर जोरदार तमाचा मारा और बोला- आह रंडी, चोद बहन के लौड़े! मैं उसे जोर जोर से चोदने लगा और थप्पड़ मारते हुए उसे गालियां देने लगा. वो भी मजे से चुदाई करवाते हुए कराहने लगी- आह … और जोर से चोदो डार्लिंग …

कॉलेज की गर्लफ्रेंड को रूम पर लाकर चोदा

दोस्तो, आप निश्चिंत रहिए कि जब लड़की खुद जोर से चोदने को कहे तो मजा और भी बढ़ जाता है। मैं अब उसे खूब गालियां दे रही थी और हचक कर चोदने लगी- चोद मुझे, मेरी रंडी, चोद बेटा… आह चोद मेरी रंडी… मेरी रंडी कुतिया, मादरचोद… आज से तुझे खूब चोदना है. मेरा लंड. वो भी अपनी गांड उछाल उछाल कर पूरे मजे से चुदवा रही थी.

फिर वो जोर-जोर से आहें भरने और कराहने लगी. उसका शरीर अकड़ने लगा. फिर शायद ऑर्गेज्म होने के कारण वो अचानक से ढीली पड़ गयी और मानो शिथिल हो गयी हो. लेकिन मैं अभी तक स्खलित नहीं हुआ था. मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके मुँह में डाल दिया. वो लंड चूसने लगी. अब मैंने उससे कुतिया बनने को कहा.. क्योंकि किसी लड़की को कुतिया बना कर चोदने में अलग ही मजा है।

उनके बाल भी लंबे थे. मैंने उसे कुतिया बनाया और अपना लंड उसकी चूत पर रखा और धक्का दे दिया. उसकी हल्की सी आह निकली और गांड हिलाते हुए लंड का मजा लेने लगी. मैंने उसके नितंबों पर जोर जोर से थप्पड़ मार कर उसे चोदना शुरू कर दिया. मैंने उसके बाल पकड़ लिए और घोड़े पर चढ़ते हुए उसे गालियां देने लगा- मादरचोद … रांड … आह्ह मेरी रंडी बहुत हॉट है.

गर्लफ्रेंड को रंडी बनाकर चोदा

वो फिर से गरम हो गयी थी. मैंने उसे खूब जम कर चोदा. फिर उसने उसे गोद में उठाया और दीवार से चिपका दिया. उसने भी अपनी गांड मेरे लंड से सटा रखी थी और उसे बाहर नहीं आने दिया. वो बस मेरे लंड पर लटकी हुई थी … बाकी पूरी तरह हवा में थी. मैं पूरी स्पीड से उसे चोद रहा था. बहुत मजा आ रहा था मेरी रंडी को चुदवाने में.

अब तक वो पूरी तरह थक चुकी थी. मैंने उसे बिस्तर पर वापस लिटाया और अपना लिंग चुसाया और उसके मुँह में स्खलित हो गया। चुदाई के बाद हम दोनों एक घंटे तक मजे करते रहे. इसके बाद उसने मुझे एक बार और चोदा. तीन घंटे की मस्ती के बाद हम दोनों अपने-अपने घर के लिए निकल गये.

इसके बाद मैंने उसे पांच साल तक चोदा. हर जगह चुदाई का मजा लिया. उसे उसके घर के साथ-साथ उसके अपने घर में भी चोदा गया. मैंने उसे ज्यादातर होटल के कमरों और कार में चोदा। उसके साथ-साथ मैंने उसकी कई सहेलियों को भी चोदा.

Hire Delhi Escorts Service | Hire Escort in Delhi with Room | Find Call Girls in Delhi | Cash Payment Delhi Escorts Service | Call Girl Agencies in Delhi | Call Girls Service Free Home Delivery | Independent Call Girls in Delhi | High-Profile Independent Delhi Call Girls | InCall Models Escorts in Delhi

982 Views