मामी को आगे पीछे से चोदा

मामी को आगे पीछे से चोदा

दोस्तो, मेरा नाम योगेश है. मैं भोपाल का रहने वाला हूँ. मेरी लम्बाई साढ़े पांच फुट है. मेरे लिंग का आकार बहुत बड़ा नहीं है, लेकिन यह किसी भी महिला को संतुष्ट करने के लिए एकदम सही है। यह मेरी पहली सेक्स कहानी है जिसमें मैंने अपनी सेक्सी मामी की चूत और गांड की चुदाई की.

ये घटना तब की है जब मैं स्कूल की 12वीं क्लास में था. मैंने बोर्ड की परीक्षा दी थी. एग्जाम देने के बाद मैं फ्री था तो मैंने सोचा कि क्यों ना कुछ दिनों के लिए अपने मामा के घर चला आऊं. मेरे मामा इंदौर में रहते हैं. जब मैंने अपनी मां को बताया तो उन्होंने मेरी मामी को बताया और मैंने तुरंत इंदौर के लिए ट्रेन का टिकट बुक कर लिया।

उसके बाद मैंने अपना सामान पैक करना शुरू कर दिया और अगले दिन तय समय पर स्टेशन पहुंच गया. ट्रेन से इंदौर पहुँच कर मैंने मामा को फ़ोन किया- मैं स्टेशन पहुँच गया हूँ, आप कहाँ हैं? अंकल बोले- मैं तुम्हें काफी देर से फोन कर रहा हूं, लेकिन लग ही नहीं रहा. मुझे अचानक किसी जरूरी काम से दो दिन के लिए शहर से बाहर जाना पड़ा।

मामी को आगे पीछे से चोदा

मैं कुछ नहीं बोला और सोचने लगा कि मैं अपने मामा के घर कैसे जाऊं क्योंकि मामा के नए घर में जाने का यह मेरा पहला मौका था। अंकल बोले- चिंता मत करो, मैंने आंटी को बता दिया है. वे तुम्हें लेने आ रहे हैं.
उसकी ये बात सुनकर मुझे राहत महसूस हुई. मैंने भी कहा ठीक है.

अब मैं आपको अपनी मामी के बारे में बताता हूँ. मेरी मौसी का नाम कोयल है. मुझे नहीं पता कि उसका फिगर अब क्या हो गया है. लेकिन वह एक अद्भुत सुंदरता है। उसके स्तन इतने बड़े और भरे हुए हैं कि दोनों हाथों में भी नहीं आ सकते। उनकी उम्र 28 साल थी. उनकी शादी को 4 साल हो गए थे, लेकिन अभी तक उन्हें कोई बच्चा नहीं हुआ था.

मैं स्टेशन के बाहर उसका इंतज़ार कर रहा था. उसने मुझे फोन पर बताया- मैं एक्टिवा पर हूं. तुम मुझे बाहर फलां जगह पर मिलना. इतना कह कर मामी ने मुझे एक जगह पास खड़े होने को कहा. कुछ देर बाद आंटी स्टेशन आ गईं. उसने साड़ी पहनी हुई थी. उनके ब्लाउज का गला इतना गहरा था कि उनके आधे स्तन बाहर से दिख रहे थे।

उन्होंने मुझसे कहा- तुम पीछे बैठो. मैं पीछे बैठ गया. मेरे पास भी एक बैग था, मैंने उसे अपनी पीठ पर लटका लिया। इस वजह से मेरे और उसके बीच ज्यादा फासला नहीं रह गया था. मेरा लंड तो उसे देखकर पहले ही खड़ा हो चुका था और अब उसकी गांड में घुसा जा रहा था. मामी के बदन की गर्मी मुझे बहुत उत्तेजित करने लगी. रास्ते में ट्रैफिक बहुत था इसलिए आंटी ने ज्यादा बात नहीं की.

मामी को आगे पीछे से चोदा

कुछ देर बाद हम दोनों घर पहुँच गये। मामी ने मुझसे कहा- तुम फ्रेश हो जाओ, मैं तुम्हारे लिए चाय बनाती हूँ. मैंने उससे कहा ठीक है और सबसे पहले बाथरूम में जाकर मुठ मारी. फिर वह हाथ-मुँह धोकर बाहर आ गया। मैंने अपने कपड़े बदल लिये थे और अब लोअर और टी-शर्ट पहन रहा था। मैं हॉल में सोफे पर बैठ गया.

मामी चाय लेकर आईं. आंटी ने भी अपनी साड़ी ब्लाउज उतार कर गाउन पहन लिया था. अब मामी और मैं चाय पीते हुए बातें करने लगे. मामी पूछने लगीं- घर पर सब कैसे हैं? कैसे अपने अध्ययन हो रहा है? मैं उसकी बातों का जवाब भी दे रहा था और उसके स्तनों को हिलते हुए भी देख रहा था. शायद जब आंटी ने अपने कपड़े बदले तो उन्होंने अपनी ब्रा उतार दी.

कुछ देर बाद हम दोनों टीवी देखने लगे. मौसी अपनी एक सहेली से फोन पर बात करने लगीं. वह बात करते हुए बालकनी में चली गई थी. जब वह हॉल में वापस आईं तो फिल्मों के बारे में बात करने लगीं। मामी को पुरानी फिल्में पसंद थीं और मुझे हॉलीवुड फिल्में. उन्होंने कहा- मुझे हॉलीवुड फिल्में भी समझ नहीं आतीं.

मैंने कहा- आंटी, हॉलीवुड फिल्मों में ग्राफिक्स और इफेक्ट्स सब टॉप क्लास के होते हैं. इन्हें समझने के लिए नीचे उपशीर्षक भी दिये गये हैं। यह सुनकर उन्होंने कहा- क्या आपके पास कोई अच्छी मूवी है? मैंने हाँ कहा और मोबाइल को टीवी से कनेक्ट किया और उस पर एक हॉट हॉलीवुड मूवी लगा दी। मामी और मैं उसकी तरफ देखने लगे.

मामी को आगे पीछे से चोदा

जैसे ही हॉट सीन आया, मैंने उसे छोड़ दिया।’ आंटी मेरी तरफ देखकर सोचने लगीं कि मैंने यह क्या कर दिया. लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि हॉट फिल्मों में हॉट सीन बार-बार आते रहते हैं। कुछ देर बाद फिर से एक हॉट सीन आया और जैसे ही मैंने रिमोट पर हाथ रखा तो इस बार मामी ने तुरंत मुझे मना कर दिया और मेरे हाथ से रिमोट ले लिया. हीरो और हीरोइन के बीच काफी स्टीमी सीन था.

दोनों लिप टू लिप किस कर रहे थे और हीरोइन के स्तन हीरो की छाती से दब रहे थे. मामी और मैं सामने चल रहे किसिंग और सेक्स सीन को देख रहे थे. मेरा लिंग खड़ा होने लगा था; नीचे से ऊपर तक अलग से दिख रहा था. मामी की नजर मेरे खड़े लंड पर पड़ी. कुछ देर बाद आंटी ने खाना बनाने को कहा और चली गईं.

मैंने भी मूवी बंद कर दी और अपने मोबाइल पर पोर्न देखने लगा. मैं पोर्न देखने में पूरी तरह खो गया था, मुझे पता ही नहीं चला कि पीछे से मेरी मामी मेरे फोन पर सेक्सी मूवी देख रही थी. मुझे कुछ हलचल महसूस हुई तो मैंने पीछे देखा. मामी भी चुदासी हो गयी थी. उसने अपना गाउन ऊपर उठा लिया था और अपनी चूत में उंगली कर रही थी. मुझे अचानक पीछे मुड़कर देखता देख वो चौंक गयी और वहां से चली गयी.

खाना बनने के बाद मैंने और मामी ने खाना खाया. लेकिन हम दोनों एक दूसरे से बात नहीं करते थे. खाना खाने के बाद हम दोनों सोने चले गये. मामा का घर ज्यादा बड़ा नहीं था. उनके घर में केवल दो कमरे थे। मेरी किस्मत इतनी अच्छी थी कि एक कमरे में पंखा भी नहीं चल रहा था. इस वजह से मामी और मैं एक ही कमरे में एक ही बिस्तर पर सोने लगे.

मामी को आगे पीछे से चोदा

मैं लेटे हुए फोन चला रहा था तो मामी बोलीं- क्या पूरे वक्त फोन ही चलाता रहेगा या सोना भी है? मैंने कहा- बस थोड़ी देर के लिए रख रहा हूँ. मामी सो गईं. लेकिन मेरी आंखों में नींद नहीं थी क्योंकि मुझे अपनी मामी का ख्याल रखना था. जैसे ही मुझे लगा कि आंटी गहरी नींद में सो गई हैं तो मैंने अपना काम शुरू कर दिया. मैंने धीरे से मामी के स्तनों को छुआ.

उसकी तरफ से कोई हलचल नहीं हुई तो मैंने धीरे-धीरे उसका एक स्तन दबाना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद मैंने आंटी का गाउन नीचे से उठाया और अपना एक हाथ उनकी जांघ पर फिराने लगा. मैंने देखा कि आंटी ने पैंटी नहीं पहनी थी. फिर मैं धीरे-धीरे अपनी उंगली उसकी चूत तक ले गया और उसकी चूत को सहलाया और जब मुझे कोई ख़तरा महसूस नहीं हुआ तो मैंने उसकी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया।

आंटी की चूत ने रस छोड़ना शुरू कर दिया था जिससे मैं समझ गया कि आंटी जाग गयी है. चूँकि उसकी तरफ से कोई हलचल नहीं हुई तो मेरी हिम्मत और बढ़ गयी. मैंने उसे सीधा लिटाया और उसके स्तनों को दबाने और सहलाने लगा। फिर मुझसे अब खुद पर कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैं उनके ऊपर चढ़ गया और अपना लंड आंटी की चूत में रख दिया और धीरे-धीरे अंदर धकेलने लगा.

मामी की चूत का छेद ज्यादा बड़ा नहीं था. इस वजह से मुझे थोड़ी ज्यादा मेहनत करनी पड़ी.’ मैंने मामी की चूत में अपना लंड जोर से धकेला तो मामी चिल्ला उठीं- आह आह मर गई! मैं डर गया कि ये क्या हो गया कहीं ग़लत जगह तो नहीं घुस गया लंड? मैंने चुप्पी तोड़ी और पूछा- क्या हुआ?

मामी को आगे पीछे से चोदा

वो मुझे गालियां दे रही थी और कह रही थी- तुम्हें चोदना नहीं आता क्या? मादरचोद… तूने तो मेरी चूत की माँ चोद दी, हरामी। जब उसने इतना कहा तो मैंने भी अपना ख्याल छोड़ दिया और उसके मुँह पर हाथ रख कर उसे चोदने लगा.
मैंने भी उसे गाली देते हुए कहा- साली रंडी, तूने अभी तक लंड लेना नहीं सीखा? क्या रंडी की चूत से चुदाई नहीं होती?

मामी भी खुल गईं- अरे यार मेरे लंड में दम नहीं है … साला खींचते ही झड़ जाता है. मेरी चूत को अभी तक लंड का सही स्वाद नहीं मिला है. मैंने कहा- अब लंड का इंतजाम हो गया है मेरी रांड … तो ले ले और मजे से गन्ना चूस ले कुतिया. ऐसी घिनौनी चुदाई में हम दोनों ने एक दूसरे को पूरी तरह संतुष्ट कर दिया.

करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य आंटी की चूत में छोड़ दिया और अपना लंड निकाल कर उनके बगल में लेट गया. मौसी भी चुदाई के बाद बहुत उत्तेजित हो गई थीं. वो मुझसे चिपक गयी और मेरे लंड को सहलाने लगी. मैंने कहा- इसे मुँह में लो और प्यार करो! मेरी बात सुनकर आंटी उठीं और लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी.

मामी को आगे पीछे से चोदा

कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से सख्त हो गया था. अब मैंने मामी को डॉगी स्टाइल में झुकाया और उनकी गांड में अपना लंड डालने लगा. पहले तो मुझे थोड़ी परेशानी हुई क्योंकि आंटी की गांड पूरी तरह से वर्जिन थी. उसकी गांड आज तक किसी ने नहीं चोदी थी. मामी ने मुझे तेल दिया और कहा- इसे लगा कर मेरी गांड में चोदो.

मैंने तेल अपने लंड पर मला और मामी की गांड के छेद पर भी लगाया. उसके बाद मैंने मामी की गांड में अपना लंड डाला और तुरंत हट गया. लेकिन लंड घुसने से आंटी को बहुत दर्द हो रहा था. उसकी गांड से खून नहीं निकल रहा था लेकिन मैं उसकी गांड को हरामी की तरह चोद रहा था.

दस मिनट तक आंटी की गांड चोदने के बाद मैंने अपना लंड निकाला और आंटी की चूत चोदने लगा. कुछ ही देर में हम दोनों चरम आनन्द से स्खलित हो गये। इस तरह मैंने पहली बार अपनी सेक्सी मामी की चूत और गांड चोदी!

246 Views