पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

दोस्तो, कैसे हैं आप लोग! यह सेक्स कहानी मेरे पापा और मेरी बहन के बीच सेक्स की कहानी है. संजू दीदी की इस देसी पारिवारिक चुदाई कहानी की शुरुआत से ही आपका लंड खड़ा हो जाएगा. मेरे पापा मेरी बहन को बहुत दिनों से चोद रहे हैं इसलिए मेरी बड़ी बहन पूरी रंडी बन गयी है.

जब भी पापा का मन होता है तो वो उसे झुका कर उसकी चूत चोद देते हैं। दरअसल, दीदी ने पापा के लंड को मजा देने का फैसला ले लिया था. उसी समय मेरी माँ की असामयिक मृत्यु हो गयी थी. उनकी मौत के बाद पिता दूसरी शादी करने को तैयार थे.

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

मेरी बहन उस समय जवान हो गई थी इसलिए उसने मेरे पिता को दोबारा शादी करने से रोका और उन्हें शारीरिक सुख देने के लिए खुद को उनके लिंग के नीचे लिटा दिया. ऐसा नहीं है कि अकेले पापा ही हवस में अंधे थे बल्कि बहन को भी चुदाई की चाहत थी.

आज की ये सेक्स कहानी उस समय की है जब दीदी के पेपर राजस्थान में होने थे. उधर, बहन यूनिवर्सिटी से कोई कोर्स कर रही थी. उसके लिए दीदी को साल में सिर्फ एक बार पेपर देने के लिए राजस्थान जाना पड़ता था. लेकिन उस समय वहां एक से डेढ़ महीने तक रहना पड़ता था.

ठंड का मौसम था. दीदी को पेपर देने जाना था तो दीदी, पापा और ड्राइवर चले गये. उधर पापा ने होटल में कमरा ले लिया और उधर किचन में दीदी को चोद दिया. चूंकि मैं उनके साथ नहीं गया था इसलिए मुझे ज्यादा जानकारी नहीं है. लेकिन बहन की चुदाई जरूर हुई होगी, ये मैं दावे से कह सकता हूं.

ये बात मुझे कुछ दिन बाद उनको सेक्स करते हुए देखने के बाद पता चली. सेक्स करते समय उन दोनों के बीच क्या हो रहा था, यह सुनकर पता चल रहा था कि राजस्थान में बहन ने पापा के साथ कैसा सेक्स किया था. उस दिन घर पर पापा और बहन सेक्स कर रहे थे.

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

तो पापा कह रहे थे- जैसे तू राजस्थान के होटल में लंड पर बैठ कर अपनी चूत ऊपर-नीचे कर रही थी.. उस दिन तुझे लेने में बहुत मजा आया। वीर्य निकलने के बाद भी पांच मिनट तक लंड खड़ा ही रहा.

पापा की इस बात पर मेरी संजू दीदी हंस पड़ीं. ‘संजू, तुम तो सेक्स में एक्सपर्ट हो गई हो!’ तो दोस्तो, मैं तुम्हें बताता हूँ कि उस दिन क्या हुआ था जब दीदी का पहला पेपर था। ये लोग उसी दिन सुबह वहां पहुंच गये थे. पेपर्स की चिंता छोड़ कर बहन पर सेक्स का भूत सवार था.

ये लोग सुबह-सुबह एक होटल में कमरा लेकर वहां आ गये. दीदी का मकसद तो सिर्फ चुदाई करना था. फिर उसे बस कपड़े पहनकर तैयार होना है और वो बिना नहाए भी पेपर देने चली जाएगी. दरअसल उसका कोई और पेपर होने वाला था.

पहली चीज़ जो होनी थी वह होटल के कमरे में हुई। एक बात और… जब घर पर कोई नहीं होता तो पापा दीदी को बहुत बुरी तरह से चोदते थे। उनको चीखने पर मजबूर कर देते हैं, उनकी गांड पर थप्पड़ मारकर उनकी गांड लाल कर देते हैं.

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

मुझे ये सब पता है क्योंकि पापा जानते हैं कि उन्हें मुझसे कोई दिक्कत नहीं है. मैंने कई बार उसकी चुदाई में मदद की है. उस दिन की चुदाई के दौरान मुझे पता चला कि पापा ने उस होटल में कई दिनों तक दीदी को चोदा था.

पापा उस होटल में दीदी की पेपर की टेंशन दूर कर रहे थे. वो दीदी की चूत चोद कर ऐसा कर रहे थे. मेरे पापा ने संजू दीदी की चूत को चोद कर फैला दिया है. चूत के होंठ भी मोटे कर दिए हैं.

भाभी की चूत इतनी फ़ैल गयी है कि मेरा 6 इंच का लंड उसमें समा जाता है. लेकिन एक बात तो है कि मेरी रंडी बहन हम दोनों भाइयों को अपनी चूत का मजा दे चुकी है. जब भी पापा दीदी को कहीं ले जाते तो संजू दीदी को बहुत बुरी तरह से चोदते थे।

जब दीदी राजस्थान से घर वापस आई तो वो रात के अँधेरे में आई थी. पापा उसका हाथ पकड़कर लाए। दीदी राजस्थान से सबके लिए सामान लेकर आई थीं. सबने अपना सामान लिया और दीदी को धन्यवाद दिया। बहन मिठाई भी लाई थी.

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

रात को खाना खाने के बाद सबने घेवर खाया और सब सोने की तैयारी करने लगे. दीदी ने भी अपने आप को कम्बल से ढक लिया था और मेरे बगल में लेट गयी. पापा को दीदी का नाम लेना था इसलिए वो दीदी को अपने कमरे में बुला रहे थे. दीदी कह रही थी- सिर दर्द हो रहा है, प्लीज़ पापा.. मुझे सोने दो।

लेकिन पापा को तो अपनी कामुक नौकरानी यानि बहन की चूत लेनी थी, जिसे उन्होंने चोदकर अपनी रंडी बना लिया था. बहन के मना करने के बाद भी पिता नहीं माने और वह उसका हाथ पकड़कर अपने कमरे में ले गए। कुछ देर तक दोनों की बातें करने की आवाजें आती रहीं.

पापा दीदी को गर्म करने में लगे हुए थे. कुछ देर बाद दीदी गर्म हो गईं और पापा के ऊपर चढ़ गईं. दीदी ने लॉन्ग स्कर्ट और टॉप पहना हुआ था. पापा ने उसकी पैंटी पहले ही उतार दी थी. दीदी ने ब्रा नहीं पहनी थी. दीदी ने अपनी स्कर्ट ऊपर की और कम्बल अपनी पीठ पर लेकर अपनी चूत को पापा के लंड पर रखा और लंड को अंदर ले लिया.

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

वो पापा की छाती पर अपने स्तन रख कर लेट गयी और गांड उठा उठा कर अपनी चूत चुदवाने लगी. पापा भी दीदी के मुँह में अपना मुँह डाल कर उनके मोटे होंठों को चूस रहे थे. कम्बल ऊपर होने के कारण गांड में जबरदस्त घिसाई हो रही थी. ऐसा लग रहा था जैसे लंड किसी इंजन के पिस्टन की तरह बहुत तेजी से अंदर-बाहर हो रहा हो।

कुछ देर बाद पापा से रहा नहीं गया और उन्होंने बहन को पकड़ कर लिटा दिया. पापा ने उसकी स्कर्ट ऊपर करके उसे दीदी के हाथों में पकड़ लिया और जोर-जोर से चोदने लगे। पापा के झटकों के साथ चुदाई शुरू हो गई, जिससे दीदी के मम्मे जोर-जोर से ऊपर-नीचे हो रहे थे।

ऐसा लग रहा था जैसे पापा दीदी की चूत को खोद कर उसमें से पानी निकालने में लगे हों. चोदते समय पापा इतनी तेजी से चोदने लगे कि वो भूल गये कि उनके बच्चे दूसरे कमरे में सो रहे हैं. दीदी भी तेज़ आवाज़ में कराह रही थीं, ‘आह पापा… ऊऊ आह पापा… ऊऊ आह आह… ऊऊ माँ आ…’

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

मेरा दिमाग और लंड दोनों ख़राब हो रहे थे. मेरी छोटी बहन मेरे बगल में सो रही थी. मैं उसकी गांड को सहलाने लगा. मैं उसकी गांड को सहलाते हुए उसके पेट को सहलाने लगा. वो भी कुछ नहीं बोल रही थी. मैंने उसके लोअर में हाथ डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा.

जैसे ही मैंने अपनी छोटी बहन की चूत में उंगली डाली तो पाया कि उसकी चूत पहले से ही काफी गीली थी और उसमें से रस टपक रहा था. उसी वक्त मेरी छोटी बहन सोनी ने अपना चेहरा मेरी तरफ कर लिया और मेरी तरफ देखने लगी. मैंने अपनी उंगली रोक ली और सन्न रह गया लेकिन वो कुछ नहीं बोली.

एक पल बाद मैंने उसे किस किया और वो भी किस करने लगी. अब मैंने उसका लोअर नीचे सरका दिया और उसने भी अपने पैरों से उसे नीचे खींच कर बाहर निकाल दिया. मैं उसके पैरों के नीचे आ गया, उसकी दोनों टाँगें फैला दीं, उसकी चूत में अपनी उंगली डाल दी और चाटने लगा। उसकी चूत बहुत चिकनी थी, ऐसा लग रहा था जैसे उसने आज ही अपने बाल साफ़ किये हों।

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

मैंने अपना सिर उसकी चूत पर रख दिया और जीभ से फांकों को खोलने की कोशिश करने लगा. मेरी छोटी बहन की चूत शायद अभी तक नहीं चुदी थी. उसकी चूत की फांकें पूरी चिपक गयी थीं. मेरी जीभ के लगातार चाटने से वो उत्तेजित हो गयी और मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी. दस मिनट तक चूत चाटने का सिलसिला ऐसे ही चलता रहा.

फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में डालने के लिए सुपारे पर सेट किया. तो कुतिया नाटक करने लगी और लंड को अपनी चूत में डलवाने से मना करने लगी. मैंने सोचा कि वह एक अजीब लड़की थी. अभी उसे अपनी चूत चटवाने में बहुत मजा आ रहा था और वो ऐसा ऐसे कर रही थी जैसे कि वो चुदवाने के लिए मरी जा रही हो।

Big Ass Muslim Call Girl Services
Cheap Rate Muslim Call Girls Service
Sexy Pakistani Call Girls in Delhi
Delhi University College Escort Girls For Enjoyment
Independent College Call Girl in Delhi
Escort Service by Delhi University College Girls
Book Sexy Punjabi Call Girls in Delhi

लेकिन जब मैं अपने लंड को उसकी चूत चोदने के लिए सैट कर रहा हूँ तो मादरचोद नाटक कर रही है. लेकिन मैं सोनी की कामुकता को समझ नहीं पा रहा था. उसने मुझे नीचे धकेल दिया और मेरे ऊपर चढ़ गयी. इससे पहले कि मैं कुछ समझ पाता, वो अपनी चूत को मेरे लंड पर जोर-जोर से रगड़ने लगी.

उसने अपना मुँह मेरे मुँह में डाल दिया और चूसने लगी. पापा के कमरे के अंदर चल रही बहन की चुदाई से जितनी तेज़ आवाज़ आती, ये कुतिया उतनी ही ज़्यादा फॉर्म में आ जाती. सोनी ने कुछ मिनट तक ऐसे ही किया. तभी उसकी चूत ने बिना चोदे ही पानी छोड़ दिया. उसकी चूत के मादक स्पर्श से मेरे लंड ने भी रस छोड़ दिया.

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

अभी तक मेरा लंड मेरी ही छोटी बहन की चूत में नहीं गया था और हम दोनों को स्खलन का सुख मिल चुका था. आप सब प्रार्थना करें कि भाभी जल्दी से खुद आ जाएं और मेरे लंड पर सवार होकर कहें- भैया, मुझे चोदो… फाड़ दो मेरी कमसिन चूत को!

फूहड़ कुतिया ने अपनी पैंटी से अपनी चूत साफ की और बिना पैंटी पहने लोअर पहन लिया। उसने पैंटी को अपने तकिये के नीचे छुपा लिया क्योंकि पैंटी उसकी चूत और लिंग के तरल पदार्थ से गीली हो गयी थी. सोनी की चूत पाव रोटी की तरह फूली हुई थी। जैसे मैंने इंस्टाग्राम पर नेहा सिंह की फूली हुई शॉर्ट केक जैसी चूत देखी थी, उसकी चूत भी वैसी ही है.

नेहा सिंह की चूत का साइज उसके चिपके हुए लोअर से पता चल जाता है, लेकिन वो इतना टाइट लोअर नहीं पहनती. दोस्तो, मैं आपको सच बता दूँ कि मेरे बेटीचोद बाप का अपनी बेटी चोदने से मन नहीं भरता। अब मेरे पापा ने मेरी दोनों बहनों को चोद कर उनकी चूत का छेद बना दिया है.

पापा ने दीदी को जबरदस्त चोदा

उसने अपनी छोटी बहन को कैसे चोदा इसकी सेक्स कहानी मैं आपको बाद में लिखूंगा. अभी इस देसी पारिवारिक चुदाई कहानी का आनंद लें. मैं अपने पापा की हवस के बारे में क्या कहूँ, वो कैसे इंसान हैं. जब भी मौका मिलता है, मेरे पापा मेरी चाची को भी अपने लंड के नीचे लिटा लेते हैं और बाहर उनकी कई रंडियां उनकी गुलाम बन जाती हैं.

मैंने अपने हरामी पापा को सबसे ज्यादा मेरी बड़ी बहन संजू को चोदते हुए देखा है. अगर दीदी घर पर है तो पापा दीदी को ही ले जायेंगे. मेरी बहन जो रंडी बन चुकी है उसे भी अपने पापा से चुदवाने में कोई दिक्कत नहीं है. हमारे सो जाने के बाद वो खुद अपने पापा के लंड से चुदवाने चली जाती है.

इस उम्र में तो दीदी ने पापा से हजारों बार चुदाई करवाई होगी. दीदी ने मुझसे कैसे चुदाई करवाई और सोनी की चूत की सील कैसे तोड़ी, इसके बारे में मैं आपको अगली बार लिखूंगा. तो दोस्तो, मैं आपके लिए अपनी बहन की चुदाई की कहानी लाता रहूंगा. इस बीच जो भी मिले उसकी चूत का मजा लेते रहो.

3,266 Views