पुलिस वाली कि चुदाई

पुलिस वाली कि चुदाई

दोस्तों, हम सभी पुलिसवालों से नफरत करते हैं और उनके लिए हमारे मन में कोई विशेष सम्मान नहीं है। हालाँकि अपवाद हर जगह मौजूद हैं। पुलिस के लिए भी ऐसा हो सकता है, लेकिन ज्यादातर की यही स्थिति है.

मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है. इसी नवंबर महीने में मेरा ट्रांसफर हो गया और अब मुझे हरियाणा टूरिज्म का ऑफिस मिल गया. इन दिनों हरियाणा में कर्मचारी चयन आयोग के पेपर चल रहे थे तो मेरी भी ड्यूटी इस काम में लगा दी गई और मुझे एक जिले में भेज दिया गया.

वहां मुझे एक स्कूल की निगरानी करनी थी. इसलिए मैं तय दिन पर उस स्कूल में पहुंच गया. गेट पर ही प्रिंसीपल सर मिल गये. उन्होंने मुझे अपने स्टाफ से मिलवाया. मैंने सभी को उनके कर्तव्य समझाये। फिर मैं अपनी कुर्सी लेकर बैठ गया. तभी अचानक एक महिला वहां आ गई.

पुलिस वाली कि चुदाई

उसने बड़े रोब को चिल्लाकर कहा-महिला कक्ष के लिए तुमने क्या व्यवस्था की है? महिलाएं कहां बैठेंगी? मुझे गुस्सा आ गया और मैंने उनसे कहा- देखिए मैडम, मैं यहां का स्टाफ नहीं हूं. मैं यहां अधीक्षक के पद पर आया हूं. यह सुनकर वह बिना कुछ कहे चली गई।

पेपर शुरू हो गया है. कुछ देर बाद जिला उपायुक्त वहां आये और पूरी व्यवस्था का जायजा लिया. उन्होंने मुझसे उस महिला पुलिस के बारे में पूछा. चूँकि मैंने किसी महिला अधिकारी को ड्यूटी पर नहीं देखा था, इसलिए मैंने उन्हें मना कर दिया।

उपायुक्त ने सभी पुलिसकर्मियों को फटकार लगायी. उनके जाने के बाद वही महिला पुलिस की वर्दी में वहां आई और उसी ताकत से मुझ पर चिल्लाई. उस महिला पुलिस अधिकारी का नाम कुसुम था. जब पूरे स्टाफ के सामने मेरी उनसे बहस हुई तो मुझे बेहद अपमानित महसूस हुआ.’

मैंने सोच लिया कि यहां से जाने से पहले मैं अपने अपमान का बदला जरूर लूंगा. फिर किसी तरह आज का दिन कट गया. पेपर ठीक से हुआ था. पेपर ख़त्म होने से पहले मैंने देखा कि कुसुम मेरी सीट के पीछे वाले कमरे में अपनी वर्दी बदल रही है। वह अपने सामान्य कपड़े पहनकर वहां से निकलीं.

पुलिस वाली कि चुदाई

अब मैं अगले दिन का इंतजार कर रहा था. मैं अगले दिन अपनी ड्यूटी पर पहुंचा और उस कमरे में मैंने अपने तीनों मोबाइल फोन को अलग-अलग एंगल पर कैमरा मोड पर रख दिया। फिर योजना के मुताबिक कुसुम अंदर आई और वर्दी बदलने के लिए कमरे में चली गई. मैंने वहां कैमरे ऑन कर दिए थे, इसलिए वो कपड़े बदलते हुए कैमरे में कैद हो गई.

उसके जाने के बाद मैंने कैमरे उतारे और उसमें बनी वीडियो देखी. उसने अंदर काली ब्रा और गुलाबी पैंटी पहनी हुई थी. उसका फिगर 32 32 34 था. कुसुम बहुत सेक्सी औरत थी.

पेपर शुरू होने के बाद मैंने उसे अपने ऑफिस में बुलाया. मैंने उससे पूछा- कल तुम मुझसे बहुत खराब तरीके से बात कर रही थी, इसलिए आज तुम्हें मुझसे लिखित में माफ़ी मांगनी चाहिए, नहीं तो मैं तुम्हारे अधिकारियों से तुम्हारी शिकायत कर दूँगा।

यह सुनकर वह भड़क गई और मुझसे हरियाणवी भाषा में बोली- तुमने मेरे साथ छेड़छाड़ की है, यह आरोप लगाकर तुमको जेल में डलवा दूंगी। मैंने कहा- ठीक है, लेकिन पहले ये भी देख लो.

पुलिस वाली कि चुदाई

मैंने उसे अपने मोबाइल पर बनाया हुआ वीडियो दिखाया और कहा कि अगर तुम बाहर जाओगी तो यह वीडियो यूट्यूब पर पोस्ट कर दिया जायेगा. उसका नंगा वीडियो देख कर वो डर गयी और मेरा मोबाइल छीनने के लिए लपकी. उसने मेरा मोबाइल छीनने की कोशिश की. लेकिन मैं भी उसकी हरकतों से सतर्क और सचेत थी.

मैंने उसे चेतावनी दी- अगर तुम मोबाइल ले लोगी तो क्या तुम्हें लगता है कि तुम मुझसे जीत जाओगी? मैंने इसे अपनी ड्राइव में सेव कर लिया है. यह सुनकर वो एकदम ठंडी हो गई और एक-दो पल मेरी तरफ देखने के बाद मेरे पैर पकड़ने लगी. वो मुझसे माफ़ी मांगने लगी. वो बोली- मैं सॉरी लिखकर दे दूंगी.

मैंने कहा कि अब माफ़ी नहीं, कुछ और चाहिए. वो बोली- तुम्हें क्या चाहिए … कितने पैसे चाहिए? मैंने कहा- तुम मुझे ये सब कितने पैसे में दिखाना चाहती हो? यह सुनकर वह रोने लगी और कहने लगी कि मेरी जिंदगी बर्बाद हो जाएगी, मेरी शादी अभी 3 महीने पहले ही हुई है।

पुलिस वाली कि चुदाई

जब अंदर ये सब ड्रामा चल रहा था तभी स्कूल के प्रिंसिपल आ गए. जब पुलिस बनाने वाले ने इस पुलिस वाली को रोते हुए देखा तो मुझसे पूछा- क्या हुआ सर? मैंने बात संभाली और कहा कि उन्हें छुट्टी चाहिए… लेकिन उनके सीनियर अधिकारी मना कर रहे हैं.

मैंने प्रिंसिपल के सामने ही उनके इंस्पेक्टर को बुलाया और कहा- मैं कुसुम जी को अपनी गारंटी पर शाम तक किसी काम के लिए भेज रहा हूँ। इंस्पेक्टर मुझे मना नहीं कर सका.. क्योंकि आज उसकी ड्यूटी मेरे अधीन थी। मैंने कुसुम को इशारा किया और वो चुपचाप जाकर मेरी कार में बैठ गयी.

मैंने प्रिंसिपल सर से कहा- मैं एक घंटे में वापस आऊंगा. ये कह कर मैं वहां से बाहर आ गया. मैं कुसुम को लेकर सीधा अपने होटल चला गया. कमरे में पहुँच कर मैंने उससे कहा- बिना समय बर्बाद किये अपने कपड़े उतारो और पूरी नंगी हो जाओ। अब कुसुम रोने लगी.

मैंने उससे कहा- यह बात तुम्हारे और मेरे बीच रहेगी और मैं इसके लिए तुम्हें पैसे भी दूंगा. हर बेईमान पुलिस वाले की तरह भाभी भी पैसों का जिक्र सुनकर तुरंत तैयार हो गईं. अब वो मुस्कुराते हुए अपने साथ मेरे कपड़े भी उतारने लगी.

जैसे ही उसके कपड़े उतरे, मैं उसके रसीले स्तनों पर टूट पड़ा। मैंने कुसुम के स्तनों को खूब मसला और दबाया और उसके निपल्स को काटा भी. वह गर्म और उत्तेजित हो रही थी. इसके बाद मैंने उससे अपना लंड चूसने को कहा और कहा- अगर तुम मेरा लंड चूसोगी तो मैं 500 रुपये अलग से टिप दूंगा.

मेरे इतना कहते ही उसने तुरंत मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. सच कहूँ तो कुसुम किसी रंडी की तरह मेरा लंड चूस रही थी. लंड चूसते समय कुसुम बहुत कामुक लग रही थी. मैं फिर से उसके मम्मे दबाने लगा.

करीब पांच मिनट तक अपना लंड चुसवाने के बाद मैंने उससे कुतिया बनने को कहा. वो बिस्तर पर कुतिया बन गयी. मैंने अपने लंड और उसकी चूत के मुँह पर वैसलीन लगाई और लंड को अन्दर डालने की कोशिश करने लगा. उसकी चूत अभी भी टाइट थी इसलिए मुझे थोड़ा जोर लगाना पड़ा.

पुलिस वाली कि चुदाई

थोड़ी मशक्कत के बाद आखिरकार मेरा लंड उसकी चूत में घुस ही गया. मेरा लंड शायद उसके पति के लंड से बहुत बड़ा था. तभी वो दर्द से चिल्ला उठी. मैंने पूछा- क्या हुआ … क्या तुम्हारे पति ने अभी तक तुम्हें नहीं चोदा? तो वो बोलीं- अब तक हमने सिर्फ तीन बार ही सेक्स किया है. मैं कर्तव्य के कारण यहाँ आया हूँ।

यह सुन कर मैंने अपने लंड के धक्कों की स्पीड बढ़ा दी. अब वो ‘आआह आआह..’ करने लगी. मुझे उसे चोदने में मजा आने लगा. मैं लिखना नहीं चाहता था, लेकिन सच तो ये था कि वर्दी वाली औरत को चोदने का मज़ा ही कुछ और है।

मैंने उसके नितम्बों पर थप्पड़ मार-मार कर लाल कर दिया और अपने हाथों से उसके मम्मों को दबाने लगा। कुछ देर बाद मैंने पोजीशन बदली और कुसुम की एक टांग टेबल पर रख दी और आगे से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और हिलाने लगा.

अब वो बहुत मजे से कराह रही थी- आ उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ आ आ… मैं पूरी ताकत से उसके स्तनों को दबा रहा था… और उसके स्तनों के निप्पलों को एक-एक करके चूसने में लगा हुआ था।

तभी अचानक मेरा फ़ोन बजा. मैंने देखा कि स्कूल के प्रिंसिपल फोन पर थे. मैंने फोन उठाया और उसे 15 मिनट में आने को कहा. फिर उसकी जोरदार चुदाई करने के बाद मैंने अपने लंड का वीर्य कुसुम की चूत में छोड़ दिया और उसे किस करने लगा. वह खुश हो गई।

पुलिस वाली कि चुदाई

दो मिनट आराम करने के बाद हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और जाने के लिए तैयार हो गये. मैंने कुसुम को 1500 रूपये दिये और कहा- हालाँकि मैं अभी संतुष्ट नहीं हूँ। तुम तो कमाल की चीज़ हो, मैं तुम्हारे साथ पूरी रात बिताना चाहता हूँ। वो बोली- मुझे रात को घर जाना है.

मैंने कहा- आज ही फोन करके बता देना कि हेडक्वार्टर पर नाइट ड्यूटी है. आपको पूरी रात की फीस मिलेगी. फीस का नाम सुनते ही बोली- मैं देखूंगी. हम दोनों स्कूल आये. पेपर साढ़े चार बजे ख़त्म हुआ और स्कूल से निकलते-निकलते पाँच बज गये।

जाने से पहले मैंने कुसुम को आने का इशारा किया और मैं अपनी कार लेकर अपने होटल चला गया. मैं होटल आया, नहाया और बिस्तर पर लेट गया. मैं सोचने लगा कि क्या मैंने आज जो किया वह सही था। बदला लेने के लिए ही मैंने एक शादीशुदा महिला को सेक्स के लिए मजबूर किया.

कुछ देर बाद कमरे में टेलीफोन की घंटी बजी. रिसेप्शन से फोन आया कि कोई आपसे मिलने आया है. मेरे अनुरोध पर रिसेप्शन स्टाफ ने उसे मेरे कमरे में भेज दिया। कमरे की घंटी बजी और मैंने दरवाज़ा खोला, सामने कुसुम थी। मैंने उसे अन्दर बुलाया और पानी पीने को दिया. मैंने उससे पूछा- इतनी जल्दी कैसे?

वो बोली- मैंने अपने घर पर बता दिया था कि आज मैं अपनी सहेली के घर रुकूंगी, इसलिए जल्दी आ गयी. मैं अभी भी थोड़ा दोषी महसूस कर रहा था, इसलिए मेरा अभी तक उसे चोदने का मन नहीं था। मैंने कुसुम से शॉपिंग के लिए चलने को कहा तो वो तुरंत तैयार हो गई.

पुलिस वाली कि चुदाई

हम लोग एक मॉल में गए और वहां से कुसुम ने अपने लिए एक साड़ी और एक वेस्टर्न ड्रेस खरीदी। मैंने उसका बिल लगभग 12000 रूपये चुका दिया। मैंने भुगतान कर दिया तो वह खुश हो गयी और मुझसे ऐसे चिपक कर चलने लगी जैसे वह मेरी पत्नी हो।

अब मुझे उसके साथ अच्छा लगने लगा. हम दोनों ने बाहर खाना खाया और होटल आ गये. मेरा अभी भी उसे चोदने का मन नहीं हो रहा था. मैं अपने बिस्तर पर लेट गया और यूट्यूब देखने लगा. जब वो बाथरूम से बाहर आईं तो उन्होंने ऊपर से लेकर नीचे तक एक ही लाल ड्रेस पहनी हुई थी. वो मेरे पास आकर लेट गयी.

उसने अपने मोबाइल पर एक मूवी चला दी, जिसमें एक औरत दो मर्दों से चुदाई करवा रही थी. मैंने उससे पूछा- ये मूवी क्यों? तो उसने कहा- आज तुम्हारे साथ सेक्स करने के बाद मेरा मन एक साथ 2 या 3 मर्दों से चुदने का हो रहा है. मैंने उसे अपने घर का पता दिया और अभी के लिए उसे गले लगा लिया।

पुलिस वाली कि चुदाई

मेरा मन कर रहा था कि उसे बाथरूम में ही चोद दूँ. मैंने अपनी इच्छा जाहिर की और उसे बाथरूम में ले गया. मैंने गर्म पानी का फव्वारा चालू कर दिया और दोनों भीग कर चुदाई का मजा लेने लगे. उसे चोदते समय, मैंने उससे पूछा – मैं तुम्हारी गांड को चोदना चाहता हूं, आपको क्या लगता है? वो बोली- तुम मजे से मार सकते हो.

Air Hostess Escorts in Delhi | Delhi Call Girls Whatsapp Number | India Aunty Phone Number Images | India Bhabhi Call Girls | India Call Girl Mobile Number in Delhi | Cheap Independent Escorts in Delhi | Delhi Girls Mobile Numbers for Friendship | India Desi Girls Mobile Numbers | Foreigner Call Girls in Delhi | Russian Escorts in Delhi | Delhi Whatsapp Girl’s Mobile Number

मैंने उसे टॉयलेट सीट पर कुतिया बना दिया और लग गया. मैंने पीछे से उसकी गांड पर शैम्पू लगाया, उसे चिकना किया और उसे चोदना शुरू कर दिया। उसे कुछ देर तक दर्द हुआ, लेकिन मैं चिकनाई डालता रहा, जिससे उसे गांड मराने में मजा आने लगा. दस मिनट तक मैंने उसकी गांड चोदी और फिर अपने लंड की पिचकारी उसकी गांड में छोड़ दी. जिससे उसकी गांड मेरे लंड के वीर्य से भर गयी.

हम दोनों नहा कर बाहर आये और फिर एक दूसरे से चिपक कर सो गये. अगली सुबह 5 बजे मुझे फिर से कुसुम को चोदने का मन हुआ तो मैंने एक राउंड और लगा लिया। सुबह उसे फिर चोदा. फिर हमने नहाया, नाश्ता किया और अपने काम पर निकल गये. इस तरह एक पुलिसवाली वेश्या बन गयी.

उस दिन के बाद से मैं एक ऐसी महिला की तलाश में हूं जो मजबूत हो और बिस्तर पर खूब प्यार कर सके।

4,245 Views