लड़की ने लिया दो लंड से मज़ा

लड़की ने लिया दो लंड से मज़ा

मेरे प्यारे दोस्तों और सहकर्मियों, आप सब कैसे हैं? मेरी पिछली कहानी विदेशी लंड से बहू की चूत की चुदाई को पढ़ने और पसंद करने के लिए आप सभी को तहे दिल से धन्यवाद।

आज की कहानी मेरी मौसी की बेटी हाफ़िज़ा के बारे में है। यह घटना उन्होंने ही मुझे बताई थी. मैंने उससे पूछा कि क्या मुझे उसकी कहानी अन्तर्वासना पर भेजनी चाहिए? तो उन्होंने ख़ुशी से हाँ कह दिया. उस दिन कैसा अद्भुत मौसम था! उस दिन क्या अद्भुत दृश्य था!

उस दिन सचमुच बहुत तेज़ बारिश हो रही थी, बादल गरज रहे थे, बिजली चमक रही थी। चारों तरफ से पानी बरसने की आवाज आ रही थी. सड़कें, नालियां और यहां तक कि घर भी पानी से भर गए. रात के दस बज गये थे। बिजली बंद हो गई थी.

मैंने इन्वर्टर से रोशनी की व्यवस्था कर ली थी। मौसम सुहावना भी था और डरावना भी। संयोग से मैं घर में अकेला था. एक तरफ मैं चुदाई के लिए तड़प रही थी.

बरसात के मौसम में बाहर तो पानी बरसता है लेकिन अंदर चूत में आग लग जाती है, बहनचोद! मुझे लंड की बहुत याद आ रही थी और उधर बादलों की गड़गड़ाहट सुन कर मेरी गांड भी फट रही थी.

मुझे लगा कि अगर ऐसी स्थिति में कोई आदमी मेरे साथ होता तो मैं उसे नंगा कर देती और खुद भी नंगी होकर उससे लिपट जाती और बिस्तर पर लेट जाती. कितना मजा आया होगा! लेकिन आप जो भी सोचते हैं, वैसा होता नहीं है. मैं उदास बैठा हुआ था.

लड़की ने लिया दो लंड से मज़ा

मेरा नाम हाफ़िज़ा है. मैं 26 साल की एक सेक्सी, खूबसूरत, कामुक और हॉट लड़की हूँ। मैं यहां अपने फ्लैट में अकेला रहता हूं. अचानक किसी ने दरवाजे की घंटी बजाई. मेरे मन में आया कि इस समय कौन आया है?

मैं उठा और दरवाज़ा खोलकर बाहर देखा तो दो लड़के खड़े थे। एक ने कहा- मैडम, हम बहुत भीग गए हैं, क्या हम यहां बैठ सकते हैं? मैंने कहा- वहां कहां बैठोगी, अन्दर आओ और यहीं बैठो.

दोनों अन्दर आये. उसने कहा- मेरा नाम अमित है और यह प्रकाश है. हम दोनों दोस्त हैं. सड़क पर बहुत पानी है. मेरी कार पानी में डूब गई है और क्षतिग्रस्त भी हो गई है. अब मेरा यहां से जाना संभव नहीं है. हम बारिश रुकने का इंतजार कर रहे हैं. बारिश रुकते ही हम चले जायेंगे.

मुझे वे दोनों अच्छे इंसान लगे, इसलिए मैंने उन्हें अंदर कमरे में बैठाया और प्रत्येक को एक बड़ा तौलिया दिया। मैंने कहा- तुम सब अपने गीले कपड़े उतार दो, नहीं तो मुसीबत में पड़ जाओगे. मैं इन कपड़ों को वॉशिंग मशीन में डालूंगा, धोऊंगा और सुखाऊंगा भी. वे मुझसे सहमत थे.

जब मैंने उन दोनों को नंगी देखा तो मेरे बदन में आग लग गयी। उनका गोरा शरीर, चौड़ी छाती, छाती पर घने काले बाल, मजबूत भुजाएँ और पतली कमर देखकर मैं उन दोनों पर मोहित हो गया। मैंने मन में कहा कि दोनों मर्द बहुत सेक्सी और हॉट हैं. उनके लंड भी जबरदस्त होंगे.

अब मेरी नजर उसके लंड पर थी. मैं हर पल इंतज़ार करने लगी और सोचने लगी कि मैं उसके लिंग को कैसे देखूँ? हॉट गर्ल ग्रुप मौज-मस्ती करना चाहता था. एक बात पक्की थी कि अगर बारिश में मेरी चूत में आग लग जाती तो उसके लंड में भी आग लग जाती.

लड़की ने लिया दो लंड से मज़ा

फिर मैं अंदर गयी और सिर्फ घाघरा पहना. ऊपर कुछ भी नहीं… बस अपने दोनों स्तनों को आगे की ओर लंबे बालों से ढक रखा था। फिर वह उसे अपने स्तनों की झलक दिखाने के लिए अपने बालों को इधर-उधर हिलाने लगी।

फिर मैंने व्हिस्की के तीन पैग बनाए और उन्हें दिए और कहा- अब आप लोग गरम-गरम व्हिस्की पिओ, इससे सर्दी ख़त्म हो जाएगी। और मैं भी उसके सामने सोफे पर बैठ गया और व्हिस्की पीने लगा. वो दोनों मुझे बड़े ध्यान से देखने लगे. उसकी नजरें मेरे चूचों पर टिकी थीं.

मर्दों की नजर तो औरत के स्तनों पर ही टिकी रहती है, बहनचोद! मैंने पूछा- तुम दोनों दोस्त हो या रिश्तेदार? उसने कहा- हम दोनों दोस्त हैं, रिश्तेदार नहीं! हमारी दोस्ती बहुत पुरानी है और हम साथ घूमते भी हैं.

तो फिर क्या तुम सब मिलकर मज़ाक करोगे, गन्दी बातें करोगे और नॉनवेज जोक्स बनाओगे?” “हाँ बिल्कुल हम करते हैं। जब आपके पास दोस्त हों तो शर्माने की क्या जरूरत है? खैर, ऐसा ही है. लड़कियाँ कभी भी एक-दूसरे से नहीं कतरातीं। लेकिन क्या लड़के भी एक-दूसरे से शर्माते नहीं हैं? क्या वे एक दूसरे के सामने नग्न हो जाते हैं?

“हाँ, बिलकुल नहीं शरमाओ!” जरूरत पड़े तो हम नंगे भी हो जाते हैं! ठीक है, तो क्या तुम लोगों ने कभी एक-दूसरे को नग्न देखा है? वह कुछ देर चुप रहा, फिर बोला- हाँ, मैंने देखा है। इसमें कौन सी बड़ी बात है? दोस्तों के बीच ऐसा तो होता ही है.

मैंने कहा- ठीक है तो फिर तुम सब खड़े हो जाओ. वह खड़ा है। मैं चुपचाप उठा और उसके बिल्कुल करीब आ गया. उसे इस बात का एहसास ही नहीं हुआ कि मैं क्या करने जा रहा हूं. मैंने जल्दी से एक ही झटके में उन दोनों के तौलिये उतार दिये।

लड़की ने लिया दो लंड से मज़ा

तो वो नंगे हो गये और अपने अपने लंड पर हाथ रखकर बैठ गये. मैंने कहा- मैं देख रहा हूँ, तुम लोग शरमा रहे हो ना? शरमाते न होते तो नंगी ही खड़ी रहतीं! अपने लिंग पर हाथ भी मत लगाओ! अमित बोला- मैडम हम एक दूसरे से नहीं शर्माते, आपके सामने शर्माते हैं.

मैंने कहा- अच्छा, क्या तुम लड़की हो? लड़कियाँ शर्माने का काम करती हैं। अगर लड़कों को कोई मस्त जवान लड़की नंगा कर दे तो उन्हें ख़ुशी से नंगा हो जाना चाहिए। प्रकाश बोला- अरे मैडम, देखो हम आपके सामने मजे से नंगे हैं!

दोनों ने अपने हाथ लिंग पर से हटा लिये. फिर मैंने प्यार से उन दोनों के लंड को एक हाथ से पकड़ लिया. मैंने दोनों के लंड चूमे और कहा- अब साली रांड… मुझसे क्यों शर्मा रही है?

इतना कहते ही दोनों के लंड तुरंत खड़े हो गये और मैं बारी बारी से उन दोनों को चूमने, चाटने और चूसने लगी। फिर मैंने अपने बालों का जूड़ा बना लिया और मेरे दोनों स्तन उसकी आँखों के सामने नाचने लगे। मैं भी गर्म हो गई थी इसलिए मैंने घाघरा उतार कर फेंक दिया. मैं मादर चोद बिल्कुल नंगी होकर उन दोनों के लंड चूसने लगी।

मुझे नंगे मर्द बहुत पसंद हैं. मुझे नंगे मर्दों के सामने नंगी होने में मजा आता है. दोनों के लंड लगभग बराबर थे. अमित के लिंग का मुख गोल था और रोशनी में लिंग का मुख अंडाकार था। दोनों के स्तन साफ़ थे.

मेरी चूत पर बहुत हल्की झुर्रियाँ थीं जिससे मेरी चूत और भी सेक्सी और हॉट लग रही थी। मैं बिस्तर पर नंगा लेट गया. उन दोनों ने अपनी गांड मेरी तरफ कर रखी थी और मेरी गांड उनके मुँह के बीच में थी. वो दोनों एक साथ मेरी चूत चाटने लगे और मैं एक एक करके उनके लौड़े चाटने लगी।

लड़की ने लिया दो लंड से मज़ा

यह दृश्य बहुत ही मनमोहक था और बहुत ही हॉट भी! आज मैं एक साथ दो लंड का मजा ले रही थी. मैं थोड़ी देर के लिए भूल गया कि बाहर बारिश हो रही है। दोनों नए अनजान लंड मेरे बदन की आग को और भड़का रहे थे.

दो लड़के एक साथ मेरी चूत चाट रहे थे तो मैं कराह क्यों नहीं उठी? मुझे बहुत मजा आ रहा था. इधर मैं भी दो लिंगों और लिंग-मुण्ड को चाट रही थी और वे भी कराह रहे थे। आग दोनों तरफ लगी थी… दोनों तरफ मजा आ रहा था।

फिर कुछ देर बाद अमित ने धीरे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. मेरे मुँह से निकल गया- उई माँ, मैं मर गई… मेरी चूत फट गई! पूरा लौड़ा घुसा दिया इस मादरचोद ने! हाय दईया, कितना मोटा लंड है इस रांड का!

मैं फिर प्रकाश का लौड़ा चाटने लगी और अमित से चुदवाने लगी। अमित बहुत अच्छे से चोद रहा था और मैं भी उसकी हर हरकत का जवाब दे रही थी। मैं पहले से ही बहुत चुदासी थी और मुझे लगा कि अमित ने भी कई बार मेरी चूत में अपना लंड डाला है. उसकी चुदाई से मुझे बहुत मजा आ रहा था.

मैंने पूछा तो उसने बताया- मैंने कई लड़कियों को चोदा है. उसने चोदने की स्पीड बढ़ा दी और मुझे मजा आने लगा. फिर अचानक प्रकाश ने अपना लंड मेरी चूत में और अमित ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया. प्रकाश भी जोर जोर से चोदने लगा.

मुझे मालूम हुआ की प्रकाश भी भोसड़ी का बड़ा अनुभवी आदमी है। ये दोनों हरामी बड़े मासूम लग रहे थे.. लेकिन हैं बड़े मादरचोद। लड़की को चोदने में ज्यादा समय नहीं लगा. प्रकाश बोला- यार अमित, आज का दिन हमारे लिए बहुत अच्छा है। ऐसे बरसात के मौसम में ऐसी कामुक चूत मिलना बड़े सौभाग्य की बात है.

लड़की ने लिया दो लंड से मज़ा

उसने मुझसे कहा- हाफ़िज़ा जी जब मैंने आपको देखा था.. तो मैं आपका दीवाना हो गया था। जब तुम हमारे कपड़े मशीन में डालने गये तो मैंने अमित से कहा कि आज इस बरसात के मौसम में इसकी चूत चोदने को मिल जाये तो मज़ा आ जायेगा। ये बुरचोदी हाफ़िज़ा बहुत बढ़िया है यार!

मैंने कहा- अच्छा, तो इसका मतलब जब तुमने एक अकेली खूबसूरत लड़की को देखा तो तुम्हारे लंड में आग लग गयी? फिर मैंने उन दोनों के झड़ते हुए लिंगों को पिया और उनके लिंग-मुंड को चाट कर मजा लिया। मैंने रात के खाने का भी इंतजाम किया.

हमने नंगे होकर डिनर किया और खूब अश्लील बातें कीं. मैंने अपनी चुदाई की कहानियाँ बतायीं और उन्होंने अपनी चुदाई की कहानियाँ सुनायीं। इतने में फिर से मेरी चूत में झनझनाहट होने लगी और उसके लंड में भी झनझनाहट होने लगी. फिर दोनों ने मिलकर मुझे चोदा.

BDSM | Russian | Party Girls | College Girls | Threesome | Bengali Models | Married Women | Paid Sex

319 Views