पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

मैं अभिनव आज आपके लिए एक बहुत ही मजेदार सेक्स कहानी लेकर आया हूँ. मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में एक छोटा सा परिवार रहता था। वहाँ एक भाई, दो बहनें और उनके माता-पिता रहते थे।

भाई का नाम रोहन था. बहनों का नाम अनंता और गुड़िया था। मैं अभिनव उनका पड़ोसी था. मेरा उनके घर आना-जाना लगा रहता था. अनंता बहुत खूबसूरत लड़की थी. उसकी खिलती जवानी पर पूरे गांव के लड़के फिदा थे.

हर कोई उसके स्तनों के नाम पर हस्तमैथुन करता था। मुझे भी वह बहुत अच्छी लगी. मैं उसके घर से उसकी ब्रा और पैंटी चुरा लेता था और उसे अपने लिंग पर लपेट कर मुठ मारता था।

उनके माता-पिता, यानी मेरे भाई और भाभी, बहुत खुले विचारों वाले थे। वह मेरा बहुत सम्मान करते थे. एक दिन मैं घर पर था. भाभी के घर का बल्ब फ्यूज हो गया था. तो भाभी ने मुझे बुलाया और कहा- पास की दुकान से एक बल्ब ले आओ.

मैं बल्ब लेकर आया तो देखा कि घर में कोई नहीं है. भाभी अकेली थीं और उन्होंने बहुत हॉट मैक्सी पहनी हुई थी. मैंने भाभी से पूछा- घर पर कोई नहीं है क्या? वह बोला, नहीं। मैंने उन्हें बल्ब दिया और जाने लगा तो भाभी ने फिर आवाज दी और बोलीं- अरे कहां जा रहे हो?

पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

ये बल्ब लगा दो और अगर कोई जरूरी काम न हो तो मेरे पास आकर बैठो. घर पर कोई नहीं है इसलिए मैं अकेले बोर हो रहा हूँ. अब मैं आपको बता दूं कि भाभी बहुत हॉट लड़की थीं. वह 5 फीट लंबी, दूधिया सफेद, चिकनी और मधुर आवाज वाली थी।

उसके स्तन भी बड़े-बड़े संतरे जैसे थे और उसकी गांड भी मस्त थी। मेरी भी इच्छा थी कि मैं भाभी और उनके घर की लड़कियों को चोदूँ लेकिन कह नहीं पाता था। आज भाभी ने बुलाया था तो मैं उनके पास बैठ गया.

भाभी बोलीं- पहले बल्ब लगाओ. मैंने कहा- क्या आप नहीं लगा पाओगे? वो बल्ब होल्डर की तरफ देखने लगी और बोली- मैं लगा सकती हूँ. मैंने कहा- हाँ तो फिर तुम कोशिश करो. अगर नहीं बना तो मैं लगवा दूंगा.

भाभी उठीं और बल्ब लगाने लगीं. बल्ब लगाते समय उसका संतुलन बिगड़ गया और वह गिरने लगी. मैंने झट से उसे पकड़ लिया और अपनी बांहों में ले लिया. बहुत कोमल जवानी थी. उसका सेक्सी बदन मेरे हाथों में बहुत रेशमी लग रहा था.

मेरा एक हाथ उसकी गांड पर था और मैंने उसकी गांड भी दबा दी. वो सच में बहुत बड़ी मक्खन बदन वाली भाभी थी. फिर मैंने भाभी को अपनी बांहों का सहारा देकर सोफे पर बैठा दिया.

भाभी हंसने लगीं और बोलीं- अगर आज तुमने मुझे नहीं पकड़ा होता तो मेरी टांग टूट जाती. कुछ देर बाद वो बोली- मैं चाय बनाकर लाती हूँ. मैं बैठ गया और उसके बदन के अहसास को याद करने लगा. कुछ देर बाद भाभी चाय लेकर आईं और मेरे पास बैठ गईं.

वो मेरा हालचाल पूछने लगी. उस वक्त भाभी मेरे बिल्कुल करीब आ गई थीं और अपनी चाय प्लेट में डालने के लिए कुछ ज्यादा ही झुक रही थीं. मुझे उसकी ब्रा दिख रही थी. भाभी मुझसे बहुत मजाक करती है

पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

तो आज वो बहुत प्यार से बातें कर रही थी और पूछ रही थी- क्या तुम्हारी कोई GF है? मैंने कहा नहीं। भाभी ने पूछा- क्यों नहीं… और अगर तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तो तुम अपना बिजनेस कैसे चलाओगे?

मैंने उनकी मज़ाकिया बात का बेधड़क जवाब दिया और कहा कि मैं अपने हाथों से काम चला सकता हूं. वह हंसने लगी। मैं भी हंसने लगा. भाभी बोलीं- अरे बताओ तो सही, मैं भी तो तुम्हारी भाभी हूं.

यह सुन कर मैंने हाथ बढ़ाया और भाभी की मैक्सी की चेन नीचे खींच कर खोल दी. इससे भाभी की ब्रा खुल गयी. भाभी गुस्सा होने लगीं- ये क्या कर रहे हो?

मैंने सॉरी कहा और वहां से उठने लगा. तभी भाभी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोलीं- अरे इसमें पड़ने की क्या बात है? इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने इसे खोला है, इसे सब उतारकर देखें। मैं खुश था कि मुझे भाभी की तरफ से हरी झंडी मिल गयी.

फिर मैं दोबारा बैठ गया और भाभी को सोफे पर लेटा दिया और उनकी मैक्सी उतार दी. अंदर भाभी ने गुलाबी रंग की ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी. वह बहुत अच्छी लग रही थी.

दोस्तो, आपको लगना चाहिए कि एक भाभी आपके सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी पहने हुए कितनी हॉट और सेक्सी लग रही होगी. मैंने भाभी से कहा- भाभी तुम्हें कितनी बार चोदते हैं भैया? भाभी बोलीं- दिन में एक बार तो पक्का है

पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

लेकिन एक लंड से मेरी इज्जत पूरी नहीं होती. जब तक तुम्हें दिन में दो या तीन लंड नहीं मिलेंगे, तुम इसका आनंद कैसे ले सकती हो? मैं चौंक गया और बोला- क्या आप सच कह रही हैं भाभी? एक बात और बताओ, क्या यही हाल सभी भाभियों का है या सिर्फ तुम्हारा ही है?

भाभी बोलीं- अलग-अलग मर्दों का लंड लेना तो हर कोई चाहता है लेकिन सबको नहीं मिलता. जिस तरह लड़कों को अलग-अलग स्तनों और स्तनों को चूसने का मन होता है, उसी तरह हमें भी अलग-अलग लंडों से चुदने की इच्छा होती है.

यह सब सुन कर मैं स्वर्ग में था. मैंने भाभी के होंठों को चूम लिया. उसके होठों को चूमते और चूसते हुए वो नीचे आया और उसकी गर्दन पर चूमने लगा। फिर उसने ब्रा के ऊपर से उसके स्तनों को मसलना शुरू कर दिया। भाभी बिन पानी की मछली की तरह तड़प रही थी.

कुछ देर बाद मैंने उसकी ब्रा उतार दी और उसके दोनों संतरे मेरे सामने फुदकने लगे। मैं भाभी के स्तनों से खेलने लगा. भाभी भी अपने स्तनों को हाथ से पकड़ कर मुझे पिलाने लगीं.

उसके स्तनों से खेलने के बाद मैं धीरे-धीरे नीचे आया और उसकी नाभि को चूमा। भाभी ने मेरा सिर और नीचे कर दिया और उनकी गुलाबी पैंटी मेरे हीरो के पास आ गयी.

बहुत ही मादक खुशबू आ रही थी. मुझे तो चूत खाने का मन हो गया. फिर मैंने भाभी की पैंटी उतार दी. उसकी चूत उसकी पैंटी की तरह गुलाबी थी. मैं तो उसकी चूत देख कर मदहोश हो गया था.

पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

मैंने भाभी से कहा- भाभी, मुझे भी अपने जैसा बना दो! वो समझ गयी और भाभी उठी और मेरे सारे कपड़े उतार दिए. मेरा लिंग हवा में टनटना गया. उसने अपने हाथ से लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी.

वो मेरे लिंग से खेल रही थी और मैं उसके गोरे स्तन चूस रहा था। भाभी ने एक हाथ से लंड पकड़ लिया और दूसरा हाथ मेरी छाती पर फिराने लगीं. वो मुझे लगातार चूम रही थी. मैं बिल्कुल स्वर्ग में सैर कर रहा था.

भाभी धीरे-धीरे मेरे लंड को ऐसे चूसने लगीं जैसे कोई लॉलीपॉप चूस रही हों. कुछ मिनट तक ये सब चलता रहने के बाद भाभी बोली- अब मुझे चोद दो देवर जी, मुझसे रहा नहीं जा रहा!

भाभी की सेक्स की वासना चरम पर चढ़ने लगी थी. उसके मुँह से यह बात सुनते ही मैं उठा और उसकी मैक्सी से उसकी चूत को अच्छी तरह से पोंछ कर साफ़ कर दिया और अपनी जीभ से चूसने लगा।

चुत चुसवाते ही भाभी कराहने लगीं और कुछ ही देर में भाभी की चुत ने पानी छोड़ दिया. जब भाभी का काम हो गया तो वो मना करने लगीं. लेकिन मेरा लंड तो चूत में घुसने के लिए बिल्कुल तैयार था.

मैंने भाभी से अपनी गांड को दोनों से फैलाने को कहा. भाभी हंस कर बोलीं- क्या तुम्हें भी छोटी लाइनें पसंद हैं? मैंने कहा- भाभी, मैं अपना लंड गांड में डालना चाहता हूं क्योंकि आपने चूत तो बहुत लोगों को दी होगी, लेकिन गांड का मजा बहुत कम लोगों को मिला होगा.

पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

भाभी मान गयी और अपनी गांड खोल दी. मैंने अपने लंड पर थूक लगाया और भाभी की गांड में डाल दिया. लंड गांड में घुसते ही भाभी चिल्लाने लगीं. मैंने भाभी की बात नहीं सुनी और अपना लंड डालना शुरू कर दिया और उनकी गांड चोदता रहा.

भाभी रोने लगीं और रोते हुए बोलीं- अगर तुम्हें चूत चाहिए तो मैं तुम्हें एक अच्छी सी चूत दे दूंगी, लेकिन अपना लंड मेरी गांड से बाहर निकाल लेना! मैंने कहा- ठीक है, किसकी चूत चुदवाओगी? भाभी बोलीं- मैं अंता और गुड़िया को ले आऊंगी!

जब मैंने उन दोनों का नाम सुना तो मैंने तुरंत अपना लंड भाभी की गांड से बाहर निकाल लिया. मैंने कहा- निकाल लिया. अब अनंत को बुलाओ! वो बोली- अब मेरे अगले का मजा लो. उसे बाद में चोदना. ये दोनों अब बाहर जा चुके हैं.

मैं भाभी की चूत को चोदने लगा. आधे घंटे तक भाभी को चोदने के बाद मैंने भाभी को अपने लंड का माल पिलाया और चुसवा कर साफ किया. इस तरह मैंने भाभी की सेक्स की हवस को संतुष्ट किया.

उसके बाद शाम को भाभी ने अपनी दोनों बेटियों को बुलाया. अनंत पांच फुट दो इंच लंबे थे। उसके स्तन अभी भी नींबू जैसे थे। वो 19 साल की लड़की थी. गुड़िया उससे दो साल बड़ी थी. वो 21 साल की थी और शायद एक या दो बार चुद चुकी थी.

दोनों आगे आये. मैंने उन तीनों को नंगे होने का इशारा किया. वे सभी नग्न हो गये. शायद भाभी ने उसे खुल कर सेक्स करने का पाठ पहले ही पढ़ा दिया था. अब मैंने भाभी से कहा- आओ भाभी, मेरा लंड चूसो.

पड़ोसन भाभी के साथ थ्रीसम चुदाई

भाभी आगे बढ़ी और मेरा लंड चूसने लगी. अनंता और गुड़िया भी मेरे पास आईं. मैं अनंता के स्तनों से खेलने लगा और एक हाथ से गुड़िया की चूत को टटोलने लगा।

फिर मैंने सील पैक माल अंत्या को चोदने के लिए सबसे पहले उसे पीठ के बल लिटाया और भाभी से कहा कि वो अपनी अनचुदी लड़की की चूत में मेरा लंड सैट कर दे. भाभी ने अनीता की दोनों टाँगें फैलाकर उसकी चूत फैला दी।

मैंने अपना लिंग उसकी योनि की दरार पर रखा और दबाया। जब मैंने अनंता की चूत में अपने लंड को डाला तो वह चिल्लाने और चिल्लाने लगी। गुड़िया ने अपनी चूत उसके मुँह पर रख दी थी। मुझे बहुत शांति महसूस हुई और अनंता को चोदने में मजा आया।

अनंता को कुछ देर तक दर्द हुआ, फिर वो भी मेरे लंड का मजा लेने लगी. तब से अंता मेरी जिंदगी बन गई. ‘अंतिमा लव यू मेरी जान.’ यह कह कर मैं उसे काफी देर तक चोदता रहा. कुछ देर बाद मैंने गुड़िया को खाना खिलाया. उसने बड़े प्यार से मेरा लंड अपनी चूत में ले लिया.

Sexy Model Escort | Muslim Escorts Girl | Muslim Girl Escort Service | Delhi College Girls Escorts | Muslim Escort Service | College Girls Escorts | Muslim Escort Girls | College Girl Escort Service | Muslim Call Girls In Delhi

309 Views